What is mutual fund ? पूरी जानकारी हिंदी में ...






mutual fund kya hai

म्यूचुअल फंड प्राथमिक जानकारी

जब इन्व्हेस्टमेंट की बात आती है तो ये सवाल जरूर मन मे आता है की इन्व्हेस्टमेंट कहा करे। आज हमारे पास बहोत सारे विकल्प है निवेश  करने के लिये।बाँडस है स्टॉक/शेअर मार्केट है रिअल इस्टेट है म्यूचुअल  फंडस् है  गोल्ड है इन सारे बहोत से विकल्प है। पर फिर वही सवाल आखीर  निवेश करे तो कहा करे?


तो आईए बात करेंगे what is mutual fund के बारेमे। जाणते है म्यूचुअल  फंड मे निवेश कैसे करा जाता है? म्यूच्यूअल फण्ड कैसे खरीदें नये निवेशक को कोणसी सावधानी बरतनी पडती है। म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है? कौन सा म्यूचुअल फंड सही है? तो आईये जानते है म्यूच्यूअल फंड्स क्या है इन हिंदी।

ये भी पढ़े :



     what is mutual fund- म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है


म्यूच्यूअल फंड क्या है What is mutual fund in hindi 

म्यूच्यूअल फंड एक ऐसी जगहा है जहाँ हम जैसे कई छोटे छोटे निवेशको का पैसे एक फंड  प्रबंधक (Fund manager) को दिया जता है और वो सब निवेशको के तरफ से हमारे पैसे स्टॉक मार्केट/government bond/comoodities इन जैसे चिजो मे निवेश किया जाता है। 


पैसे कहापर निवेश करणे है ये सब फंड प्रबंधक  देखता है। यहा आपको कूच दिमाग नही लगाना होता है। आप जब निवेश करते हो तो आपको कुछ युनिट्स  प्रदान किये जाते है उन्हे हम ( NAV) Net asset  value कहते है। what is NAV?  NAV दुसरा कूछ नही होता जो पैसे आप म्यूचुअल फंड मे युनिट खरीदे ने के लिये खर्च करते है उसे NAV कहते है। आप जो भी Securities लेेते है उसके हिसाब से Nav कम जादा होते रहते है।



 How many types of Mutual Fund: म्यूचुअल फंड के कितने प्रकार होते है?

1)    Equity fund: high-risk high return

2)    Debt fund: low-risk low return

3)    Hybrid fund: a combination of both equity  +debt

4)    Balanced fund

5)    Gilt fund

6)    Index fund

 7)   Gold

8)    ElSS


म्यूचुअल फंड निवेश के लिए कौन से दस्तावेज आवश्यक हैं? Which Document's required for Mutual fund investment?


1)  pan card
2)  photos
3)  name & your address proof (निवास प्रमाण पत्र)adhar card etc.
4)  Bank account details & KYC



म्यूच्यूअल फंड्स में पैसे कैसे लगाये? म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कैसे करें?

आजकल सब इंटरनेट की वजसे ऑनलाइन हो गया है तो आप किसी पर्टिकुलर फंड के वेबसाइट पर जाकर आपनी पूछी हुई जानकारी भरकर निवेश कर सकते है। या फिर अलग अलग अप्प्स है उन्हें डाऊनलोड करके जैसे कि Mutual  fund investment app groww है  paytm है zeroda coin ET money ye म्यूचल फंड इन्वेस्टमेंट अप्प्स है।ईनकी मदतसे निवेश कर सकते है।


Who can  invest in Mutual Fund? कौन म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकता हैं?

कोई भी म्यूच्यूअल फंड मे निवेेेश कर सकता है जो 18 साल के है। चाहे आप student है या फिर अगर आप job करते हो। आप कोई भी हो आप MF मे निवेश कर सकते है।


stock market VS mutual Fund:

क्या मुझे स्टॉक शेअर मार्किट में निवेश करना चाहिए या फिर म्यूचल फंड्स। स्टॉक मार्केट की बात करे तो स्टॉक मार्केट मे आप एक दिन मे 5/ 10/या इस से जादा भी रिटर्न एक दिन मे कमा सकते है । तो अब आपको लगता होगा की इतना रिटर्न्स एक दिन मे मिलता है तो म्यूच्यूअल फंड की बजाय क्यू ना मैं अपने पैसे स्टॉक मार्केट मे ही लगावू। बेशक आप लगा सकते है अगर आपको अच्छे तरहसे स्टॉक मार्केट का ज्ञान है तो।  तो ऐसे याह सवाल उठता है की क्या मुझे अपने पैसे स्टॉक/मार्केट या फिर म्यूचुअल  फंड मे निवेश करणे चाहीये? Should I invest my money in share /stock market or in mutual fund?   आईए दोनो की बात करते है। 


स्टॉक मार्केट मे निवेश क्यू करे:

1)आगर आपको अच्छे रिटर्न्स चाहीये तो
2)आगर आपकी जोखीम लेणे की तयारी है तो।क्यू की याह fundamental /technical knowledge जरुरी है।
3)आगर आपको शेअर मार्केट का ज्ञान है तो म्यूचुअल  फंड की बजय आप डायरेक्ट स्टॉक मार्केट मे निवेश कर सकते है। क्यू की अप्रत्‍यक्ष रूप से आपका  जो भी पैसा  है इन सारी प्रतिभूतियां (Securities) मे लगाया जाता है।


 

म्यूच्यूअल फंड मे निवेश क्यू करे? Why to invest in mutual fund?

 what is mutual fund in hindi

1) अगर आपके पास Securities /स्टॉक मार्केट का अच्छा ज्ञान नही है। तो आपकी तरफ से एक प्रोफेशनल फंड प्रबंधक आपके पैसे लगायेगा।

2) निवेशक जब चाहे तब अपने निवेश किये हुए पैसे निकाल सकता है। ELSS फंड को छोड़कर।

3)अगर आपकी जादा जोखीम लेने की तयारी नही। आप नौकरी करते है और आपके पास जादा समय नही।

4)  अगर आप अपने पोर्टफोलिओ मे जादा diversifiction चाहते है तो। इस से आपके पैसे एक जगहा निवेश करने की बजाय अलग अलग जगहा पर निवेश किये जायेंगे और रिस्क फॅक्टर थोडा कम हो जाऐगा।

5) professional fund manager:   म्यूचुअल फंड  मे निवेश करते है तो यहा आपको एक फंड manger मिळेगा जिसे Securities का अच्छा ज्ञान होता है। अच्छे शिक्षित होते है। पहले भी  फंड हाऊस संभाले होते है। अनुभव का  एक उनका दायरा होता है।और इसिसे आपके पैैसे अच्छे जगहा निवेश हो पाते है।




Disadvantages of investing in mutual fund : म्यूच्यूअल फंड के नुकसान :

जैसे की हमने  देखा कि म्यूच्यूअल फंड में निवेश के कुछ फायदे है तो उसी तरहा  कूच नुकसान भी है।


1)  हम अपने पैसे फंड manger के पास दे देते है तो ये सब ऊस पर  ही निर्भर करता है की पैसे काहा निवेश किये जाये काह नही। निवेशक का  उसपर  कोई नियंत्रण नही होता।

2) mutual fund are subject to market risk.अगर हम MF मे निवेश करते है तो याह भी रिटर्न्स निश्चित नही होता है। आप आपके थोड़े या फिर सारे पैसे गवा भी सकते है।

3) high fees: यहा आपको कुछ फीस अदा करणी होती है।जो की अलग अलग फीस निवेशको को देणी पडती है।इसमेे आपका expense charges आते है। exit lode अगर आप निश्चित समय से पहले अपने पैैसे MF निकाल   लेते हो तो । stamp dutiy/ LTGC tax of 10/  अगर आपको 1 लाख से जादा रिटर्न्स है तो  एक वित्तीय साल  10 / प्रतिशत  टैक्स देेना होता है।



चक्रवृद्धि ब्याज की शक्ति power of compound interest

हा अपने सही सुना अगर आप म्यूच्यूअल फंड में निवेश करते है तो यहा आपको चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है ।  उदाहरण की तौर पर मान लीजिए  अगर कोई 19 साल की उम्र में  हर साल 2000 रुपये 10/ परसेंट के हिसाब से 20 साल तक किसी योजना में डालता है तो जब 20 साल के बाद आप उस राशि को निकालेंगे तो 126000 रुपये आपको मिलेंगे। यहां आपने जमा किये 40000 और आपको total intrest 86000 रुपये मिलेंगे। मतलब ब्याज पे ब्याज। अगर आप थोड़ी थोड़ी राशि हर महीने यैसे ही कही निवेश करोगे तो कुछ वर्ष बाद आपको बड़ी राशि मिल सकती है जिसकी आपने कल्पना भी की नही होगी। ये होता है मैजिक ऑफ कंपाउंड इनट्रेस्ट।




⚫म्यूच्यूअल फंड में निवेश करते समय इन बातोंका जरूर ख्याल रखे।


कौन सा म्यूचुअल फंड सही है? नए निवेशक अक्सर निवेश करते समय कुछ गलतियां कर बैठते है। और मेहनत से कमया पैसा व्यर्थ जा सकता है। इसकेलिए जब भी आप म्यूचल फंड में निवेश करते हो कुछ बाते ध्यान में रखे:


1)आपने निवेश में विविधता  Dont keep your all eaggs in one  basket  (diversification ) लाये  मतलब आपको  2 /3 अलग अलग फंड में  अलग अलग सेक्टर्स में  जैसे कि फार्मा या फिर टेकनोलोजी  सेक्टर में निवेश करे।


2) कुछ निवेशकों को लगता है लो आब मैने अपनी इन्वेस्टमेंट डाइवर्सिफाइड करली। पर असल मे होता ये है कि अलग अलग फंड  में  वही काम्पनियो में निवेश करते है। मतलब अगर (A)फंड ने Infosys में निवेश किया है और (B) फंड ने भी infosys तो अगर मैन (A और( B)फंड में निवेश किया होता है पर असल मे एक ही कम्पनी में ।

3)आजकल इंटरनेट से निवेश करना आसान हो गया है तो जब भी किसी एप (app) से आप निवेश करतो हो जिस फंड में निवेश कर रहे हो उस फंड की  स्टार रेटिंग अवश्य देखे चार /पांच स्टार रेटिंग अछि मानी जाती है।

 4) फंड को कोनसा फंड मैनेजर देख रहा है चला रहा है। उसकी डिग्री उसका अनुभव पास्ट परफॉर्मन्स जरूर देखें।

5)म्यूच्यूअल फंड चार्जेज: जरूर देखें जिस फंड में आप निवेश करने जा रहे है वो फंड आपसे कितने पैसे चार्ज कर रहा है। expense ratio / exit lode ये सब आप एक बार जरूर देखें।


6) mutual fund रिस्क: बहोत एहम मुदा आपकी रिस्क लेने की कितनी तयारी है। आप  देख  ले कि फंड में दिखया होता है कि High risk/ moderate risk /risk / low risk  ये सब जरूर देख ले। तो ये सब बाते अहम होती है।





      हमने अब बहोत से पहलु ओंकी चर्चा की mutual fund kya hai कैसे निवेश करते है फंड मैनेजर की भूमिका कौन सा म्यूचुअल फंड सही है? mutual fund ke phayde kaun sa mutual fund sahi hai . सबकी हमने चर्चा की ताकि आपको mutual fund में निवेश करने को कोई दीक़त ना हो। और आप अपने पैसे सही जगह निवेश कर पाओ। Thank you.


Note:  if u like this information on what is mutual fund in Hindi then share it with your friends on WhatsApp and Facebook and for more such information subscribe to us tnx u.


0 Comments